Menu
English हिन्दी

इमरान पर भड़कीं पूर्व पत्नी, कहा- मोदी को खुश करने के लिए किया कश्मीर का सौदा

Headlines :

Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on linkedin
  • इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान (फोटो: फेसबुक प्रोफाइल)
  • जम्मू-कश्मीर के मसले पर घिरे इमरान खान
  • अब पूर्व पत्नी रेहम खान ने साधा निशाना
  • रेहम खान ने इमरान पर लगाया कश्मीर के सौदे का आरोप
  • एक साल तक ही चल पाई थी इमरान-रेहम की शादी      

  • जम्मू-कश्मीर के मसले पर हायतौबा कर रहा पाकिस्तान खुद ही अपने घेरे में घिरता जा रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को दुनिया के कई देशों से निराशा हाथ लगी है और अब तो वह घर में ही घेरे जाने लगे हैं. इमरान खान की पूर्व पत्नी और ब्रिटिश-पाकिस्तानी पत्रकार रेहम खान ने भी अब जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है. रेहम खान ने इमरान पर कश्मीर का सौदा करने का आरोप लगाया है.

    एक इंटरव्यू में रेहम खान ने कहा कि कश्मीर में हालिया घटनाक्रम का कारण इमरान खान में निर्णय लेने की क्षमता का अभाव और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने की कोशिश है.

    समाचार एजेंसी IANS के मुताबिक, रेहम खान ने कहा कि हमें शुरू से सिखाया गया कि कश्मीर बनेगा पाकिस्तान, लेकिन इमरान खान ने इसका सौदा कर दिया. रेहम खान ने इमरान खान को घेरा तो उनका ये इंटरव्यू सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

    रेहम खान ने कहा कि मोदी ने वही किया जो उन्हें करना था, यही करने के लिए उनको जनादेश मिला था, अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए. लेकिन इमरान खान कुछ ना कर सके. रेहम बोलीं कि इमरान बार-बार कहते रहे कि वह कश्मीर पर मोदी के प्लान को जानते थे, अगर वह सचमुच जानते तो कुछ किया क्यों नहीं. या फिर आप लगातार उन्हें फोन कर उनसे बात करने की कोशिश क्यों कर रहे थे.

    आपको बता दें कि इमरान खान और रेहम खान की शादी सिर्फ एक ही साल चल पाई थी (2014-2015). रेहम खान उसके बाद से ही लगातार ट्विटर के जरिए इमरान पर निशाना साधती रही हैं, जब से इमरान प्रधानमंत्री बने हैं तब से ये और भी तेज हुआ है. अपने इस इंटरव्यू से पहले भी उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए वह इमरान खान को घेरती रही हैं.

    गौरतलब है कि इमरान खान जम्मू-कश्मीर के मसले पर कई देशों से दखल देने की गुहार लगा चुके हैं. वह कई बार अपने भाषणों के दौरान भड़काऊ बयान भी दे चुके हैं लेकिन हर दफा उन्हें निराशा ही हाथ लगी है और भारत अपने फैसले पर अडिग है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *