असम के गुमनाम क्रांतिकारियों को श्रद्धांजलि हैं “लाल -रेखा “

0
121

मुंबई 25 अगस्त, कमलाश्री फ़िल्म्स प्रा •लि वाराणसी के बैनर तले, निर्माता -निर्देशक दिलीप सोनकर के निर्देशन में दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल और दूरदर्शन अरूणप्रभा के लिए बनाये जा रहे दैनिक धारावाहिक “लाल -रेखा “असम राज्य के गुमनाम क्रांतिकारियों के शौर्य की गाथा को दर्शाएगी, जिन्होने देश की आज़ादी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था | धारावाहिक का प्रसारण जल्द ही दोंनो चैनलों पर किया जाएगा | लाल -रेखा असम की वादियों में जन्मी एक ऐसी प्रेम कहानी हैं, जिसके मुख्य पात्र लाल और रेखा, सच्चे देश भक्त और क्रन्तिकारी हैं
धारावाहिक लाल -रेखा में गुवाहाटी के जीवितेष मजुमदार ने मुख्य पात्र लाल की भूमिका निभाई हैं वही असम में पली- बढ़ी सुदीप्ता बंदोपाध्याय रेखा की भूमिका में नज़र आयेंगी |इसके साथ ही बॉलीवुड और असम के नामचीन कलाकारों से युक्त धारावाहिक में अरुण बख्शी, मुकुल नाग (साईं बाबा फेम ), अनुपम श्याम ओझा (सज्जन सिंह )पृथ्वी ज़ुत्शी, बीरबल खोंसला (प्रसिद्ध हास्य कलाकार ), गरिमा अग्रवाल, संगीता श्रीवास्तव, मयंक मिश्रा, डॉ अष्टभुजा मिश्रा (काशी के वरिष्ठ नाट्यकर्मी ), कुणाल सिंह राजपूत, ललित मल्ला, अंशुमा शेकिया भूमिका शेकिया, सार कश्यप, सुनील बॉब, दीप्ती अलवानी, मेहनाज़ सर्राफ, राजा कापसे, दीपक दत्त शर्मा, रमेश गोयल, कुंदन सिंह आदि नामचीन और उम्दा कलाकारों का अभिनय देखने को मिलेगा
धारावाहिक “लाल -रेखा ” का शीर्षक गीत संगीत बॉलीवुड के प्रख्यात संगीतकार मोंटी शर्मा ने तैयार किया हैं, पार्श्व संगीत असलम सुरती (इस्माइल दरबार के भांजे ) का हैं | धारावाहिक की कहानी महशूर उपन्यासकार बाबू देवकीनंदन खत्री (चन्द्रकान्ता ) के परपोते विवेक खत्री ने लिखा हैं, शोध का कार्य काशी के जाने माने रंगकर्मी डॉ अष्टभुजा मिश्रा ने किया हैं | संवाद धीरज कुमार और रंजीत भट्टाचार्य ने तैयार किया हैं
निर्माता दिलीप सोनकर, रणजीत कवाले और दिव्य ज्योति भराली का कहना हैं कि धारावाहिक लाल रेखा आज़ादी के पहले पूर्वात्तर राज्यो द्वारा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में दिए गये योगदान को समेटे हुए एक पारिवारिक अमर प्रेम कथा पर आधारित दैनिक (डेली शो ) धारावाहिक हैं, जिसे अत्यंत रोमांचक, रुचिकर और शिक्षाप्रद बनाया गया हैं, ताकि वर्तमान अनिभिज्ञ पीढ़िया इस धारावाहिक को देखकर कठिन संघर्ष के उपरांत मिली आज़ादी का अच्छी तरह मूल्यांकन कर सके येही इस धारावाहिक का मुख्य लक्ष्य है |इसके पूर्व भी निर्माता दिलीप सोनकर द्वारा निर्मित भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में प्रिंट मिडिया के अहम योगदान पर आधारित धारावाहिक “रणभेरी ” जो काशी से प्रकाशित समाचार पत्र “रणभेरी “और काशी के जाने माने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और पत्रकार बाबू विष्णुराव पराड़कर जी पर केंद्रित था जिसे कई बार दूरदर्शन पर प्रसारित किया जा चुका हैं, जो बेहद सफल रहा हैं

 

रिपोर्ट- प्रशांत वशिष्ठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here